वस्तु एवं सेवा कर परिवर्ती प्रावधान (GST Transitional Provisions)

वस्तु एवं सेवा कर परिवर्ती प्रावधान (GST Transitional Provisions)

वस्तु एवं सेवा कर परिवर्ती प्रावधान (GST Transitional Provisions) प्र 1. क्या जी.एस.टी. से पूर्व पहले कानून के अंर्तगत आई.टी.सी. केरूप में उपलब्ध पिछले रिटर्न का सेनवैट/आई.टी.सी. आगे जी.एस.टी व्यवस्था के अंतर्गत ले जाया जाएगा? उत्तरः हाँ, पंजीकृत कराधीन व्यक्ति इस तरह के क्रेडिट प्राप्त करने का हकदार होगा और यह उसके इलेक्ट्रॉनिक खाता बही में क्रेडिट हो जाएगा – … Continue Reading →