राजनीतिक पार्टियां एक व्‍यक्ति से 2000 रुपए से अधिक नगद चंदा नहीं ले सकतीं: दानदाताओं से चैक या डिजिटल माध्‍यम से चंदा प्राप्‍त कर सकती हैं:निर्धारित समय सीमा के भीतर आय कर रिटर्न भरना होगा।  राजनीतिक दलों द्वारा चंदा लेने में सुविधा के लिए बैंक चुनावी बांड जारी करेंगे।

केंद्रीय वित्‍त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री श्री अरुण जेटली ने आज संसद में आम बजट 2017-18 प्रस्‍तुत करते हुए कहा कि राजनीतिक पार्टी एक व्‍यकित से अधिकतम दो हजार रुपए का नगद चंदा ले सकती है। राजनीतिक दलों की वित्‍त पोषण प्रणाली में पारदर्शिता लाने के कदमों के बारे में बताते हुए वित्‍त मंत्री ने प्रस्‍ताव किया कि राजनीतिक दलों को चंदा लेने में सुविधा के लिए बैंक चुनावी बांड जारी करेंगे।

अपने बजट भाषण में वित्‍त मंत्री श्रीअरुण जेटली ने कहा कि राजनीतिक पार्टिंयां चैक या डिजिटल माध्‍यम से चंदा प्राप्‍त करने की पात्र होंगी। उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक राजनीतिक पार्टी को निर्धारित समय सीमा के भीतर आय कर रिटर्न भरना होगा।

राजनीतिक पार्टियों की वित्‍त पोषण प्रणाली में सुधार लाने के महत्‍वपूर्ण कदम के बारे में श्री जेटली ने कहा कि राजनीतिक दलों को चंदा देने के लिए जल्‍द ही अधिकृत बैंकों से चुनावी बांड जारी किए जाएंगे। वित्‍त मंत्री ने कहा कि सरकार जल्‍द ही इस संबंध में एक योजना का ढांचा तैयार करेगी और चुनावी बांड जारी करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम में संशोधन करने का प्रस्‍ताव किया गया है। उन्‍होंने कहा कि चंदा देने वाले केवल चैक और डिजिटल भुगतान कर मान्‍यता प्राप्‍त बैंकों से बांड खरीद सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि निर्धारित समय सीमा के भीतर पंजीकृत राजनीतिक पार्टी के निर्धारित बैंक खाते में ये बांड परिशोध्‍य होंगे।


Source: http://pib.nic.in/ : Political Parties cannot receive donation above Rs. 2000 in cash from one person; entitled to receive donations by cheque or digital mode from their donors;. Have to file its Income-Tax Return within the prescribed time limit; Banks to issue Electoral Bonds to enable donations to Political Parties